सरस्वती से शेरिन बनी अनाथ बच्ची का अमेरिका में शव मिलने की खबर से हिला नालंदा

-सोचा था नयी पहचान मिलगी लेकिन बदले में मिली मौत

-सात समुन्दर पार सदा के लिए खामोश हो गयी नन्ही जान

बिहारशरीफ। नालंदा मदर टेरेसा अनाथ आश्रम से गोद ली गयी बच्ची सरस्वती उर्फ शेरिन मैथ्यूज के लापता होने के बाद उसके शव मिलने की खबर से मदर टेरेसा अनाथ आश्रम में सन्नाटा छा गया है।किसी को यकीन ही नहीं हो रहा है कि जिस सरस्वती को बड़े लाड प्यार के साथ अमेरिकी दम्पत्ति उसे सात समुन्दर पार ले गयी थी उस मासूम की आवाज़ अब सुनने को लिए नहीं मिलेगी। चेहरे पर मुस्कुराहट लिए जिस नयी आकांक्षाओं व सपनों के साथ सरस्वती नालंदा से बिदा हुई थी उसने भी कभी नहीं सोचा होगा कि उसे सदा के लिए मौत की नींद सुला दिया जाएगा। सरस्वती को अमेरिका में एक नयी पहचान दी गयी।नाम रखा गया शेरिन मैथ्यूज।वो काफी खुश थी,मन में एक नयी आस भी जगी। जिस मां ने उसे जन्म देकर छोड़ दिया उसके प्रति खीझ भी थी।सोचती थी कि जन्म देने वाली मां से अच्छी तो गोद लेने वाली मां है।कम से कम पहचान तो मिली। लेकिन सरस्वती गलत थी।नए मां बाप ने तो उससे सांस ही छीन ली।बता दे कि भारतीय बच्ची शेरिन मैथ्यूज के दूध नहीं पीने पर उनके अमेरिकी माता-पिता द्वारा सजा के तौर पर घर से बाहर निकाल दिया था।सात अक्तूबर को यह घटना हुई थी, तब से लेकर अब तक उस बच्ची के बारे में कोई अतापता नहीं मिल रहा था। अब चुकी सरस्वती के शव मिलने की पुष्टि हॉस्टन की पुलिस ने भी कर दी है तो अनाथ आश्रम के अध्यक्ष अमित पासवान ने आरोपी दम्पत्ति को भारत लाकर उसपर हत्या का मामला दर्ज कर उसे फांसी की सजा देने की मांग प्रधानमंत्री से की है।

Top
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.