रोमांच,मनोरंजन व ठहराव का कॉम्बो पैक है पांडु पोखर

-ब्रांडिंग की दरकार

बिहारशरीफ।कुदरत के साथ कदम ताल करने का मौका इंसान को कभी-कभी मिलता है।जी हाँ, प्रकृतिक सौंदर्य के अदभुत नज़ारे अपने आप में समेटे हुए नव सृजित पर्यटन स्थल पांडु पोखर किसी सौगात से कम नहीं है। बिहारशरीफ से लगभग 25 किलोमीटर की दुरी पर स्थित राजगीर का यूँ तो पर्यटन के विश्व पटल पर अपनी अलग पहचान है लेकिन आज मैं राजगीर के जिस पर्यटन स्थल की बात कर रहा हूँ वो अपने आप में अनूठा है।जी हाँ,मैं बात कर रहा हूँ पाण्डु पोखर की।वाटर स्पोर्ट्स ,रोमांच ,एंटरटेनमेंट व ठहराव का लुत्फ उठाना हो सीधे चले आइए पांडु पोखर। ओपन ब्रिक्स आर्किटेक्ट देखकर आप दंग रह गया।सबसे पहले आपको मिलेगा टिकट काउंटर जहां से अंदर दाखिल होने के लिए आपको बैंड दिया जाएगा। सोमवार से शुक्रवार तक 30 रुपये का शुल्क लगता है जबकि शनिवार व रविवार को आपको 40 रुपए (प्रति व्यक्ति) खर्च करने होंगे।टिकट की जगह आपके हाथों में वाइट बैंड बांधा जाएगा। अगर आप येलो बैंड बांधना चाहते है तो आपको 300 रुपये देने होंगे जिसमें आप जी भर के इंडोर,आउटडोर व रोमांच का मज़ा ले सकते है।ग्रीन बैंड के लिए आपको 100 रुपए देने होंगे जिसमें आप अनलिमिटेड आउटडोर एक्टिविटी का मज़ा ले सकते है। ग्रीन बैंड में बोटिंग,बुल राइड,हॉर्स राइडिंग,बंजी जम्पिंग,ट्रमपोलिन, बाउंसी,चिल्ड्रन प्ले जोन,इमू जोन,मिनी ज़ू,सेल्फी पॉइंट,क्रिकेट,बैडमिंटन,फ़ुटबॉल,बास्केट बॉल व वॉलीबॉल का लुत्फ उठा सकते है।ब्लू बैंड की कीमत 140 रुपए है जिसमें आप अनलिमिटेड इंडोर एक्टिविटीज का मज़ा ले सकते है जिसमें पूल टेबल,एयर हॉकी,टेबल सॉकर, टेबल टेनिस,कैरम व फुट मसाज का आनंद ले सकते है। रेड बैंड के लिए 180 रुपए खर्च करने होंगे जिसमें अनलिमिटेड रोमांच का मज़ा ले सकते है। रेड बैंड में ज़िप्लिन,बर्मा ब्रिज,वाटर रॉलर, ज़ोरबिंग बॉल व डबल पैडल साईकल का आनंद उठा सकते है।हालांकि कुछ एक्टिविटीज के लिए थोड़ा इन्तिज़ार करना पड़ेगा जो अभी उपलब्ध नहीं है।22 एकड़ में फैले पाण्डु पोखर में प्रवेश करते ही सहसा आपको चंडीगढ़ के रॉक गार्डन की याद आ जाएगी।अगर आपको थकान लगे तो संगीत की मीठी आवाज़ व पानी के फव्वारे के बीच बैठकर आराम कर सकते है।सॉफ्ट म्यूजिक के बीच शुकुन से बैठने का अपना ही मज़ा है।बैठने की व्यवस्था काफी अच्छी लगी।अगर भूख का अहसास हो तो आप अंदर बने रेस्तरां की ओर रुख कर सकते है। साथ हीं पीपल ट्री के नीचे बुद्ध भगवान की मूर्ति व तलाव के बीच पांडु महाराज की 60 फीट की खड़ी मूर्ति पर्यटकों को काफी आकर्षित करेगी।पांडु पोखर मे हर चीज़ व्यवस्थित दिखेगा।प्राकृतिक सौंदर्य व पहाड़ के बीच इस शांत वातावरण को छोड़ कर जाने का मन ही नहीं करेगा। रुकिए,अगर आपको लगे कि इस प्राकृतिक सौंदर्य के बीच काश ठहराव की भी व्यवस्था होती तो मज़ा आ जाता।टेंशन न ले,इसकी भी व्यवस्था है। बस,आपको अपनी जेब थोड़ी ढीली करनी होगी।असिस्टेंट जनरल मैनेजर प्रभास कुमार ने बताया कि ठहराव की व्यवस्था काफी अच्छी है। अगर आप ग्रुप में है या फैमिली के साथ है तो काफी मज़ा आएगा। ए.सी टेंट के लिए 4500 रुपए प्लस जीएसटी ,सूट के लिए 5000 हज़ार प्लस जीएसटी व ए.सी डोरमेटरी के लिए 4000 प्लस जीएसटी का खर्च आता है। इसके लिए आप ऑनलाइन बुकिंग भी कर सकते है।बस आपको क्लिक करना होगा मेक माई ट्रिप या गो इबिबो डॉट कॉम पर। सही में सरकार व पर्यटन विभाग ने पर्यटकों को नायाब तोहफा दिया है।ज़रूरत है इसकी ब्रांडिंग की।ताकि कोई भी पर्यटक राजगीर आये तो पाण्डु पोखर ज़रूर जाये।

Top
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.