ज़रूरतमंदों के आंखों की रोशनी बनेगा नालंदा नेत्रालय

-आंखों का मुफ्त इलाज 6 व 7 को

बिहारशरीफ। स्थानीय डॉक्टर्स कॉलोनी स्थित नालंदा नेत्रालय के तत्वावधान में आगामी 6 व 7 जनवरी को सुबह 8 बजे से 1 बजे तक नि:शुल्क नेत्र रोग चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जा रहा है जिसका उदघाटन ब्रह्मा कुमारी की बहन अनुपमा करेंगी।इसकी जानकारी देते हुए जिले के नेत्र रोग विशेषज्ञ व समाजसेवी डॉ. अरविंद कुमार ने बताया कि जिले में ऐसे कई ज़रूरतमंद व गरीब रोगी है जिन्हें रुपयों के अभाव में बेहतर मेडिकल सेवा नहीं मिल पाता है।ऐसे में यह पहल ज़रूरतमंदों के लिए काफी कारगर साबित होगा।इसके बाद प्रत्येक शनिवार व रविवार को मात्र 50 रुपये के रजिस्ट्रेशन पर रोगियों का इलाज किया जाएगा।बीपीएल का इलाज मुफ्त में होगा इसके लिए रोगी को बीपीएल कार्ड व आधार कार्ड लेकर आना होगा।उन्होंने बताया कि
जब 27 साल पूर्व मैं नालंदा जिला में अपनी सेवा देने आया था। उस समय बहुत सारी संस्था जैसे रोटरी, आई. एम. ए ,अंजुमन के सहयोग से गरीब व ज़रूरतमंदों की सेवा मुफ्त में करता रहा। अक्सर मैं सोचता था कि जब मैं लोगों की मदद करने के लायक हो जाऊंगा तो खुद का एक चैरिटेबल ट्रस्ट खोलूंगा ताकि लोगों की सेवा कर सकूं। आज उसी अवधारणा को धरातल पर उतारने के लिए चैरिटेबल ट्रस्ट की शुरुआत करने जा रहा हूँ ताकि गरीब मरीजों को जिला से दूर जाकर भटकना न पड़े।बाहर में जहां उनको सही इलाज नहीं मिल पाता वही अधिक आर्थिक बोझ भी सहना पड़ता है।नालंदा नेत्रालय की अनवरत निष्ठा पूर्ण सेवा का लाभ संपन्न लोग तो वर्षो से ले ही रहे हैं लेकिन गरीब मरीजों के आंखो का इलाज भी अधिक से अधिक रियायती दरों में संभव हो उसके लिए नालंदा नेत्रालय चार नेत्र रोग विशेषज्ञों की टीम के साथ प्रत्येक शनिवार व रविवार को अपनी सेवा देगी। अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ लैस हमारी टीम ज़रूरतमंदों का इलाज करेगी।टीम में डॉ.सुधांशु जो भारत के ही नहीं बल्कि विश्व के सबसे उच्च ट्रेनिंग सेंटर अरविंद आई केयर से प्रशिक्षण लेकर आए हैं । आपको बता दें कि अरविंद आई केयर दुनिया का सबसे अच्छा चैरिटेबल संस्था है ,उसी के तर्ज पर गरीब मरीजों को अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ यहां भी इलाज संभव हो पाएगा ताकि गरीब मरीजों को इधर-उधर भटकना न पड़े।प्रोजेक्ट की निदेशक डॉ. सुनीति सिन्हा ने कहा कि दुनिया में मानव सेवा से बढ़कर कोई बड़ी चीज नहीं है। मानव धर्म व मानव जन्म का उद्देश्य तभी सफल होगा जब सारे मानव मिलकर एक दूसरे की सहायता करेंगे। इस मौके पर डॉ. विनोद कुमार,डॉ. सुधांशु मौजूद थे।

Top
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.