शहर का ब्रांड बना ‘बिटटूज रेस्टॉरेन्ट’

-युवाओं के लिए आदर्श बन चुके हैं विकास

बिहारशरीफ। नालंदा जिले के बिहारशरीफ के खंदक पर मोहल्ले के रहने वाले 28 वर्षीय विकास रंजन उच्च शिक्षित युवाओं के लिए आदर्श प्रस्तुत कर रहे हैं।विकास विद्यालय रांची से 12th और बंगलुरु से एमबीए करने वाले विकास महानगरों की चकाचौंध भरी ज़िन्दगी छोड़ शहर में बिटटूज़ रेस्टोरेंट के नाम से बिज़नस कर रहे हैं।बिजनेसमैन पिता विनोद गुप्ता को प्रेरणा मानने वाले विकास शुरू से कुछ अलग करना चाहते थे।हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में रूचि रखने वाले विकास ने बिट्टूज रेस्टॉरेन्ट की शुरुआत कर शहर को एक अलग टेस्ट दिया।पेस्ट्री व केक के लिए मशहूर इस शॉप की शहर में कम ही समय में एक अलग पहचान बना ली। अगर आप पेस्ट्री,केक,स्वादिष्ट मिठाई,पिज़्ज़ा,बर्गर खाना चाहते हैं तो बिट्टूज से बेहतर विकल्प हो ही नहीं सकता।रेस्टोरेंट का माहौल,व्यवस्था,साफ़ सफाई देखकर ही मन खुश हो जाता है।विकास बताते हैं कि अगर कोई बिज़नस शुरू करें और वो सफल हो तो एक अलग सा कॉन्फिडेंस लेवल डेवलप हो जाता है।आज मेरे शॉप में जितने भी पेस्ट्री, केक व मिठाई की वैरायटी आप देखते है,सभी मैं अपनी देखरेख में अपने कारखाने में बनबाता हूँ।रॉ मैटेरियल्स दिल्ली व रांची से आता है।लोकल कोई भी सामान मैं यूज़ नहीं करता।पाइनएप्पल,चॉकलेट,बटर स्कॉच,ब्लैक फोटेस्ट,वाइट फारेस्ट,डार्क ट्रफल,मिल्क बादाम सभी टेस्ट में पेस्ट्री उपलब्ध है जो 20 रूपये से 50 रूपये तक की आती है।केक का भी कई फ्लेवर है जो 250 से 700 रूपये पौंड तक बिकता है।मिठाई में ड्राई फ्रूट्स लड्डू (सुगर फ्री) व काजू किंग बिटटूज का सबसे स्पेशल आइटम है।मेरा मानना है कि अगर रेट रिज़नेबल हो और क्वालिटी हो तो लोग आपके पास ज़रूर आएंगे।बिज़नस में काफी स्कोप है।बस ज़रूरत है मेहनत व ईमानदारी से काम करने की।आज के दिनों में जब युवा लाखो की पैकेज के लिए अपनी ज़मीन व देश छोड़ देते है,ऐसे में विकास का यह कदम कई युवाओं को नयी राह दिखा सकता है।खुद विकास का मानना है कि इंसान जितना भी आगे बढ़ जाये अगर अपनी माटी के लिए कुछ नहीं कर सका तो ऐसी कामयाबी का कोई मतलब नहीं रह जाता।विकास की एक बहन एमबीबीएस करने के बाद पीजी कर रही है तो दूसरी बहन सीए कर रही है।

Top
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.